दोष मुक्त होने के लिए एकादशी को करे ये सुगम उपाए| सभी पापो से होंगे मुक्त ?

दोष मुक्त होने के लिए एकादशी को करे ये सुगम उपाए| सभी पापो से होंगे मुक्त ?

ये नहीं देखा तो क्या देखा|

गुरुवार दिनांक 06.09.18 को भाद्रपद कृष्ण पक्ष की ग्यारस तिथि पर अजा एकादशी पर्व मनाया जाएगा। इस एकादशी पर शास्त्रों में भगवान विष्णु के ऋषिकेश स्वरूप के पूजन का विधान बताया गया है। भगवान मधुसूदन के अनुसार अजा एकादशी सब प्रकार के पापों का नाश करने वाली है। इससे पूर्व महाऋषि गौतम ने अजा एकादशी का ज्ञान चक्रवर्ती राजा हरिशचंद्र को दिया था। इस एकादशी में मसूर दाल, चने व शाक पर लटकी सब्जियों का सेवन वर्जित है। इस एकादशी पर शहद का सेवन करने से एकादशी व्रत के फल कम होते हैं। इस एकादशी में रात्रि में भगवान की पूजा के बाद जल और फल ग्रहण कर सकते हैं। इस व्रत में रात्रि जागरण करने का बड़ा महत्व है। द्वादशी तिथि के दिन प्रातः ब्राह्मण को भोजन करवाने के बाद स्वयं भोजन करना चाहिए। यह ध्यान रखें कि द्वादशी के दिन बैंगन नहीं खाएं। पौराणिक मतानुसार अजा एकादशी के व्रत-पूजन और उपाय से झूठे आरोपों से छुटकारा मिलता है, सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है, मानसिक कष्टों से मुक्ति मिलती है।

स्पेशल पूजन विधि: घर की पूर्व दिशा में लाल कपड़े पर श्रीहरि का चित्र व पीतल का कलश स्थापित करें। कलश में जल, दूध, सुपारी हल्दी व सिक्के डालें, कलश के मुख पर अशोक के पत्ते रखकर उस पर नारियल रखें तथा विधिवत पूजन करें। शुद्ध घी का दीप करें, चंदन की अगरबत्ती जलाएं, हरिद्रा चढ़ाएं, पीले फूल चढ़ाएं, केसर की खीर का भोग लगाएं व 11 केलों का भोग लगाएं तथा तुलसी की माला से 108 बार यह विशेष मंत्र जपें। पूजन के उपरांत खीर प्रसाद स्वरूप बांटें।

स्पेशल मंत्र: ॐ ऋषिकेशाय नमः॥

शाम का स्पेशल मुहूर्त: शाम 19:00 से शाम 20:00 तक।

गुडलक मंत्र: ॐ श्रीनिवासाय नमः॥

सुख-समृद्धि की प्राप्ति के लिए- लक्ष्मी-नारायण मंदिर में केसर की खीर चढ़ाएं।

मानसिक कष्टों से मुक्ति के लिए- पीले किए हुए उबले आलू श्रीहरि पर चढ़ाकर गाय को खिलाएं।

झूठे आरोपों से मुक्ति के लिए- पीले कपड़े में 12 कमलगट्टे बांधकर लक्ष्मी-नारायण मंदिर के बाहर फेंक दें।

पारिवारिक खुशहाली के लिए: संध्या के समय घर की उत्तर-पूर्व दिशा में शंख बजाएं।

लव लाइफ में सक्सेस के लिए: श्री हरि पर चढ़ी केसर से लेफ्ट हैंड की हथेली पर टीका करें।

मैरिड लाइफ में सक्सेस के लिए: बेडरूम में पीली शेड की चादर बिछाएं।

गुड हेल्थ के लिए: भगवान विष्णु पर चढ़े केसर का सेवन करें।

गुडलक के लिए: भगवान विष्णु का पीतल के लोटे से जलाभिषेक करें।

विवाद टालने के लिए: पीली सरसों जलाकर श्री हरि की आरती करें।

नुकसान से बचने के लिए: श्री हरि पर पीले फूलों की माला चढ़ाएं।

प्रोफेशनल सक्सेस के लिए: श्री नारायण पर सूखा धनिया चढ़ाएं।

एजुकेशन में सक्सेस के लिए: श्री नारायण पर चढ़ा पीपल का पत्ता टेक्स्टबुक में रखे|

2

No Responses

Write a response